Home entertainment padmaavat film-protesters karni sena block delhi jaipur highway

padmaavat film-protesters karni sena block delhi jaipur highway

9 second read
Comments Off on padmaavat film-protesters karni sena block delhi jaipur highway
420

padmaavat film-protesters karni sena block delhi jaipur highway- पद्मावत के विरोध में दिल्ली-जयपुर हाइवे जाम, करणी सेना ने दी चेतावनी

संजय लीला भंसाली की चर्चित फिल्म पद्मावत को लेकर विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। सुप्रीम कोर्ट की ओर से हरी झंडी मिलने के बावजूद देश के अलग-अलग इलाकों में इस फिल्म के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने गुरुग्राम के वजीरपुर-पटौदी रोड पर जमकर आगजनी की। उन्होंने दिल्ली-जयपुर
हाइवे को जाम कर दिया। लोगों ने गुरुग्राम के सोहना रोड पर भी प्रदर्शन किया और पत्थरबाजी की। उन्होंने इस दौरान एक बस में भी आग लगा दी। उधर, मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में भी करणी सेना के सदस्यों ने विरोध-प्रदर्शन किया।

इस बीच करणी सेना ने फिर से धमकी दी है कि वह फिल्म रिलीज नहीं होने देगी। फिल्म पर उपजे विवाद और हिंसक हो चुके विरोध के बीच करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह कालवी मीडिया के सामने आए। कालवी ने आज जयपुर के राजपूत सभा भवन में पत्रकार वार्ता में कहा कि राजस्थान, सहित गुजरात
, मध्य प्रदेश, हरियाणा, उत्तर प्रदेश व बिहार के फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर ने फिल्म रिलीज नहीं करने का आश्वासन दिया है। हालांकि इस दौरान उन्होंने राजस्थान में सिनेमाघर संचालकों को भी आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि वे जरूर मनमानी कर रहे है। इस दौरान कालवी ने अपनी गिरफ्तारी की भी आशंका जताई। उन्होंने
कहा कि जिस तरह का माहौल बन रहा है उसे देखते यह उनकी फिलहाल आखिरी पत्रकार वार्ता हो सकती है।

उनका कहना है कि वे पूर्व की तरह आज भी तीन बातों पर अडिग है। जिसमें प्रमुख बात जनता कर्फ्यू की है। साथ ​फिल्म रिलीज नहीं होनी चाहिए वह इस बात पर भी अब तक कायम है। गौरतलब है कि मंगलवार को राजस्थान पुलिस कह चुकी है कि करणी सेना के नेताओं को पाबंद किया जाएगा। जबकि हिंसक प्रदर्शन
की सूरत में इन नेताओं की गिरफ्तारी भी संभव है। वहीं आज भी राजस्थान सहित कई राज्यों में करणी सेना की ओर से उग्र प्रदर्शन किए जा रहे है। कालवी ने माना कि फिल्म का हिंसक विरोध कर रहे लोग करणी सेना के कार्यकर्ता हैं। माफी मांगने की बात पर कालवी ने कहा, ‘मैं माफी तो मांगता हूं, लेकिन मां पद्मावती से माफी मांगता हूं।’

पूरी कॉन्फ्रेंस के दौरान कालवी ने एक बार भी नहीं कहा कि हिंसा करना गलत है और ऐसा नहीं होना चाहिए। कालवी ने अपनी गिरफ्तारी की आशंका भी जताई और कहा कि शायद यह गिरफ्तारी से पहले मेरी आखिरी कॉन्फ्रेंस हो। उन्होंने कहा, ’25 जनवरी को हमने जनता कर्फ्यू की मांग की है और लोगों से सहयोग करने
को कहा है। गुजरात और राजस्थान में डिस्ट्रिब्यूटर भी हमसे बात कर चुके हैं और फिल्मों की स्क्रीनिंग न करने की बात कह चुके हैं।’

इस बीट मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने कहा है कि पद्मावत के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे करणी सेना के 35 से ज्यादा समर्थकों को हिरासत में लिया गया है। वहीं, अहमदाबाद में भी 44 लोगों को हिरासत में लिया गया है। मंगलवार को अहमदाबाद के कई मॉल्स को निशाना बनाते हुए आगजनी और तोड़फोड़ की गई थी। तोड़फोड़ मामले में पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। अहमदाबाद में हार्ट अलर्ट है और पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है।

‘हम पद्मावत को हटा रहे हैं’
कालवी ने कहा, ‘पहले पद्मावती फिल्म आ रही थी, जिसे हमारे विरोध के बाद पद्मावत किया गया। लोग पद्मावत देखने जा रहे हैं, पद्मावती नहीं देखेंगे। अब हमारा विरोध पद्मावत के लिए हैं। हम किसी थिअटर के मालिकों को कमाई नहीं करने देंगे। मंगलवार को मैं गुजरात में था और महात्मा गांधी की जन्मस्थली में था। महात्मा गांधी ने अंग्रेजों को हटाया था, हम पद्मावत को हटा रहे हैं।’

कालवी ने कहा कि जिन राज्यों में प्रतिबंध नहीं लगा है, हमारे लोग वहां होंगे। कालवी ने गुजरात और महाराष्ट्र में 148 लोगों की गिरफ्तारी की बात भी स्वीकार की। कालवी ने कहा, ‘भंसाली ने इस पूरे विवाद को जन्म दिया और फिल्म के प्रचार के लिए यह तरीका आजमाया। दोष किसी का नहीं है, केवल भंसाली का है।’ पूरी वार्ता के दौरान एक बार भी कालवी ने हिंसा को गलत नहीं ठहराया।

रोहतक में हंगामा
हरियाणा के यमुनानगर में हंगामा की खबरें हैं। यहां एक सिनेमाहॉल के बाहर करणी सेना के कथित सदस्यों ने हंगामा किया। ऐसे में रोहतक और अन्य इलाकों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इधर, यूपी के मथुरा में पद्मावत के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी। पद्मावत फिल्म 25 जनवरी को रिलीज होने वाली है। इस फिल्म की रिलीज का करणी सेना कड़ाई से विरोध कर रही है।

पद्मावत का बवाल यूपी के मेरठ तक पहुंच चुका है। यहां के पीवीएस मॉल में पद्मावत के विरोध में पथराव किया गया है। मॉल में पुलिस की तैनाती कर दी गई और मामले की जांच की जा रही है।

इस बीच दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पद्मावत के बहाने केंद्र पर निशाना साधा है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘अगर सभी राज्य सरकारें, केंद्र सरकार और सुप्रीम कोर्ट मिलकर एक फिल्म को रिलीज नहीं करवा सकती और उसका प्रदर्शन नहीं हो रहा है तो कैसे देश में निवेश आएगा? भूल जाइए FDI। लोकल निवेशक तक निवेश करने में घबराएगा। खराब हो रही अर्थव्यवस्था के लिए यह सही नहीं है। जॉब्स के लिए बुरी।’

Comments are closed.

Check Also

Online Master’s Degree – The Road to Your Success

The manner of attaining knowledge is a lifelong process that never really stops. Even if y…