Home news Punjab national bank scam dates when nirav modi and his family leave india

Punjab national bank scam dates when nirav modi and his family leave india

13 second read
0
767

Punjab national bank scam dates when nirav modi and his family leave india

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को 11,400 करोड़ रुपये का चूना लगाने वाले ज्वैलरी कारोबारी नीरव मोदी से जुड़ी संपत्तियों पर गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) छापेमारी की. पीएनबी ने बुधवार को कहा था कि उसने 1.77 अरब डॉलर या 11,400 करोड़ रुपये का घोटाला

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को 11,400 करोड़ रुपये का चूना लगाने वाले ज्वैलरी कारोबारी नीरव मोदी से जुड़ी संपत्तियों पर गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) छापेमारी की. पीएनबी ने बुधवार को कहा था कि उसने 1.77 अरब डॉलर या 11,400 करोड़ रुपये का घोटाला पकड़ा है. इस मामले में फोर्ब्स की भारतीय अमीरों सूची में शामिल रहे आभूषण कारोबारी नीरव मोदी ने कथित रूप से उसकी मुंबई की शाखा से धोखाधड़ी करके गारंटी पत्र (एलओयू) हासिल किए थे. इन एलओयू के जरिये अन्य भारतीय बैंकों से विदेशों में कर्ज लिया गया था.
नीरव मोदी 2013 से सबसे अमीर और प्रसिद्ध भारतीयों की लिस्ट में भी अपनी जगह बनाते रहे हैं। सीबीआई ने उनके साथ उनकी पत्नी, भाई और बिजनस पार्टनर के खिलाफ भी पंजाब नैशनल बैंक के साथ 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का केस दर्ज किया है। गुरुवार को बैंक की तरफ से इस मामले में दो शिकायतें और की गईं, जिसमें सीबीआई को बताया किया कि यह घोटाला बताई गई रकम से कहीं ज्यादा करीब 11,300 करोड़ रुपये का है। पीएनबी ने बुधवार सुबह अपनी एक शाखा में हुई इस धांधली के बारे में शेयर बाजार को जानकारी दी। बैंक के अनुसार, उसने मुंबई स्थित अपनी एक शाखा में कुछ गड़बड़ी दर्ज की है। कुछ खाताधारकों को लाभ पहुंचाने के लिए लेनदेन किए गए। इन लेनदेनों के आधार पर ग्राहकों को दूसरे बैंकों ने विदेशों में कर्ज दिए हैं। पीएनबी की सूचना से वित्त मंत्रालय और पूरे बैंकिंग क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। वित्त मंत्रालय ने पूरे मामले पर रिपोर्ट तलब की है।
पीएनबी की शिकायत के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार को मनी लांड्रिंग मामले में मोदी और अन्य के ठिकानों में छापेमारी की. पीएनबी ने इस मामले में दस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है तथा मामले को सीबीआई के पास जांच के लिए भेज दिया है. पीएनबी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सुनील मेहता ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बैंक ने इस मामले में दोषियों के खिलाफ हरसंभव कार्रवाई करेगा. मेहता ने कहा कि पिछले 123 माना जा रहा है कि नीरव मोदी अभी स्विट्जरलैंड में हैं। पिछले दिनों 23 जनवरी को दावोस में वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम में पीएम मोदी और भारतीय सीईओ की साथ ली गई तस्वीर में नीरव मोदी भी नजर आ रहे हैं। यह तस्वीर नीरव के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के ठीक 6 दिन पहले की है। नीरव भारतीय नागरिक है, जबकि पत्नी एमी और भाई निशाल के पास भारतीय नागरिकता नहीं है। इस बीच खबर है कि सीबीआई ने नीरव मोदी की पत्नी एमी मोदी के घर को सील कर दिया है। सीबीआई ने मुंबई के वर्ली स्थित इस घर पर 3 और 4 फरवरी को छापा मारा था। पीएनबी में धोखाधड़ी सामने आने के बाद देश की प्रमुख ज्वैलरी कंपनी गीतांजलि, गिन्नी और नक्षत्र भी सरकारी एजेंसियों की जांच के घेरे में आ गई हैं। एक सरकारी बैंक के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन चारों कंपनियों की सीबीआइ और प्रवर्तन निदेशालय ने जांच शुरू की है। इन कंपनियों की ओर से कोई टिप्पणी नहीं मिल पाई है। अधिकारियों के अनुसार सेबी भी बैंक और ज्वैलरी कंपनियों की जांच शुरू कर सकता है।
सालों में हमने काफी उतार-चढ़ाव देखा है. बैंक गड़बड़ी करने के खिलाफ पूरी क्षमता से कार्रवाई की जाएगी और उन्हें सजा दिलाई जाएगी. इस पूरे मामले पर सीबीआई के अधिकारी की तरफ से दावा किया गया कि जांच एजेंसी तक पहली शिकायत पहुंचने से पहले ही नीरव मोदी देश छोड़कर जा चुका है. अधिकारी ने यह भी बताया कि 31 जनवरी 2018 को पहली प्राथमिकी दर्ज करने के बाद नीरव मोदी के खिलाफ लुक आउट जारी किया है. नीरव अकेले ही देश छोड़कर नहीं गए है. नीरज का परिवार भी देश छोड़कर जा चुका है. आपको बताते हैं कि किस तरह से नीरव और उसके परिवार ने अलग-अलग तारीखों पर देश छोड़ा 1 जनवरी 2018 को नीरव मोदी ने देश छोड़ा 1जनवरी को 2018 को ही नीरव मोदी के भाई निश्चल मोदी (बेल्जियम के नागरिक) ने भारत छोड़ा 4 जनवरी को मेहुल चोकसी (नीरव के चाचा) ने देश छोड़ा 6 जनवरी 2018 को नीरव मोदी की पत्नी (अमेरिकी नागरिक) ने देश छोड़ा 29 जनवरी 2018 को PNB ने सीबीआई में शिकायत दर्ज कराई 31 जनवरी को CBI ने नीरव के खिलाफ केस दर्ज किया 31 जनवरी को ही CBI ने सभी आरोपियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया इससे पहले ज्वेलरी डिजाइनर नीरव मोदी और कुछ अन्य के खिलाफ 280 करोड़ रुपये की मनी लांड्रिंग के आरोपों की जांच के सिलसिले में गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देश में कई जगह छापेमारी की. यह कार्रवाई पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत के आधार पर की जा रही है. कम से कम 10 जगह छापे डाले गए आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि तड़के शुरू हुई कार्रवाई में मुंबई, गुजरात और दिल्ली में कम से कम 10 जगह छापे डाले गए. प्रवर्तन निदशालय के अधिकारियों ने जिन जगहों पर यह कार्रवाई की, उनमें मोदी का मुंबई के कुरला इलाके का घर, काला घोड़ा इलाके की डिजाइनर आभूषणों की दुकान, बांद्रा और लोअर परेल इलाके में कंपनी के तीन ठिकाने, गुजरात के सूरत में तीन ठिकाने और दिल्ली के डिफेंस कालोनी और चाणक्यपुरी इलाके में मोदी के शो-रूम शामिल हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने मामले में सीबीआई में इस माह के शुरू में दर्ज एक प्राथमिकी (एफआईआर) के आधार पर मनी लांड्रिंग निरोधक अधिनिमय (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया है. समझा जा रहा है कि ईडी ने पीएनबी की ओर से मोदी और अन्य के खिलाफ प्रस्तुत की गई शिकायातों पर भी गौर किया है. सीबीआई ने नीरव मोदी, उसकी पत्नी और उसके एक भागीदार को बैंक के साथ 2017 में 280.70 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में नामजद किया है. प्रवर्तन निदेशालय की टीमों ने नीरव मोदी के भाई निशाल, पत्नी अमी और मेहुल चीनूभाई चोकसी तथा दो नामजद बैंक अधिकारी गोकुलनाथ शेट्टी और मनोज खराट के घरों पर भी तलाशी की. निशाल, अमी और मेहुल ये सभी डायमंड आर यूएस, सोलार एक्सपोर्ट्स और स्टेलर डामंड्स में भागीदार है. शेट्टी सेवानिवृत्त हो चुका है. सीबीआई की प्राथमिकी में कहा गया है कि इन सरकारी (बैंक) अधिकारियों ने उपरोक्त फर्मों को धन का लाभ पहुंचाने के लिए अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग किया जिससे 2017 में पंजाब नेशनल बैंक को 280.70 करोड़ रुपये का गलत तरीके से नुकसान हुआ. बैंक ने यह भी शिकायत की है कि उसके यहां से धोखाधड़ी कर के आरोपी इकाइयों के पक्ष में या उनकी ओर से 16 जनवरी 2018 को कुछ साख-पत्र जारी किए गए.]]>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Medical Repatriation – What Is It and Benefits From It

As we already know about medical repatriation and its strong impact on saving the lives of…